You are currently viewing VPN क्या है और इसको इस्तेमाल कैसे करते हैं और इसके फायदे व नुकसान क्या है

VPN क्या है और इसको इस्तेमाल कैसे करते हैं और इसके फायदे व नुकसान क्या है

अगर आप एक internet यूजर हैं तो आपने VPN का नाम तो जरूर सुना होगा। मगर क्या आप जानते हैं कि VPN क्या होता है और वीपीएन का इस्तेमाल क्यों किया जाता है और क्या वीपीएन का इस्तेमाल करना जरूरी है। अगर आप इन सभी चीजों के बारे में नहीं जानते तो कोई बात नहीं आप इन सभी चीजों के बारे में जान जाएंगे तो चलिए शुरू करते हैं।

VPN kya hai

VPN क्या होता है?

VPN का पूरा नाम virtual private network है वहीं अगर साधारण भाषा में कहीं तो यह एक ऐसी नेटवर्क टेक्नोलॉजी है। जो एक असुरक्षित नेटवर्क को सुरक्षित नेटवर्क में बदलने का कार्य करती है और यूजर की location और identity को छुपाकर रखती है। जिससे यूजर की गोपनीयता बनी रहती है और यूजर का डाटा सुरक्षित रहता है। यह यूजर के freedom of internet के अधिकारों की रक्षा करती है। जिससे प्रतिबंधित वेबसाइटों तक पहुंचा जा सकता है।

VPN

VPN कैसे काम करता है।

जब आप अपने ब्राउज़र में किसी वेबसाइट का url डालकर ok करते हैं। तो सबसे पहले आपकी request आपके isp यानी internet service provider के पास जाती हैं। जहां आपकी online identity, device ID और data request जैसी सारी detail check की जाती है। उसके बाद आपको उस वेबसाइट के सर्वर से जोड़ा जाता है।उसके बाद ही आपके और वेबसाइट के बीच डाटा का आदान-प्रदान होता है और यह सभी काम isp के जरिए होता है। जिसमें आपका कोई भी डाटा गोपनीय नहीं रहता है। जिस कारण हमेशा डाटा चोरी होने का खतरा बना रहता है। साथ ही restriction एक बड़ी समस्या है। जो आपको blocked website को access करने से रोकता है। कुल मिलाकर आपको freedom, privacy, और security से जुझना पड़ता है। इसलिए VPN इनका समाधान है क्योंकि इस का काम करने का तरीका थोड़ा अलग है तो जानते हैं आखिर कैसे अगर आप ब्राउज़र में कोई वेबसाइट ओपन करते हैं तो आपकी रिक्वेस्ट सीधी VPN server के पास जाएगी और आपने फोन से जो रिक्वेस्ट के रूप में Data traffic जाएगा।

VPN server

वह पूरी तरह से encrypted होगा और एक secure tunnel के जरिए भेजा जाएगा। साथ ही आपकी online identity बिल्कुल गुप्त रहेगी क्योंकि Data traffic आपकी स्मार्टफोन के जरिए VPN Server से भेजा जाएगा लेकिन जैसे ही आपका data VPN Server के पास जाएगा वह decrypt हो जाएगा। उसके बाद VPN आपकी request को उस वेबसाइट के सर्वर पर भेजेगा और वहां से जवाब प्राप्त करके वापस उसे Encrypt कर देगा और अपने सुरक्षित कनेक्शन के जरिए आप के फोन पर भेज देगा अब आपके फोन में जो VPN Software है वह उस डाटा को decrypt कर देगा ताकि आप उसे पढ़ सकें इस तरह आपकी ISP को कभी पता नहीं चलेगा कि आपने किस वेबसाइट पर विजिट किया और वहा आपने क्या-क्या Activities की।

 बीपीएन कैसे इस्तेमाल करें।

इसे इस्तेमाल करना बहुत आसान है। एक अच्छे VPN Service provider का चुनाव कीजिए। उसकी बेवसाइट पर जाकर अपने सिस्टम के हिसाब से VPN Software download कर लिजिए। अगर आप मोबाइल इस्तेमाल कर रहे हैं तो Google Play Store या App store से डाउनलोड कर लीजिए। वहीं अगर आप चाहो तो chrome extension भी डाउनलोड कर सकते हैं। खैर उसके बाद अपना एक VPN account बनाइये और उसने login करके अपना licence activate किजिए और बस आप इसे इस्तेमाल कर सकते हैं। 

बीपीएन किसे इस्तेमाल करना चाहिए।

वैसे तो इसे हर किसी को इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि इससे security बड़ जाती है। मगर अगर आप इंटरनेट का इस्तेमाल बस थोड़ी बहुत ब्राउजिंग और इंटरटेनमेंट के लिए करते है। तो आपको इसकी कोई ज्यादा जरूरत नहीं है मगर अगर आप internet banking, cryptocurrency, government agency, security firm या संवेदनशील कार्य करते हैं तो आपके लिए जरूरी नहीं बल्कि अनिवार्य है। इन कामों के लिए आपको बीपीएन हमेशा यूज करना चाहिए।

क्या आप इंटरनेट चलाते समय यह गलती करते हैं।

VPN के फायदे।

वैसे देखा जाए तो बीपीएन के बहुत सारे फायदे हैं। मगर इन सभी के बारे में बताना थोड़ा मुश्किल है इसलिए हम मात्र 5 फायदों के बारे में बताएंगे।

1.privacy.

जो लोग हमेशा अपनी प्राइवेसी को लेकर चिंतित रहते हैं उनके लिए बीपीएन एक बहुत ही अच्छा विकल्प है। क्योंकि बीपीएन यूजर की वास्तविक identity और location को छिपा देता है और यह IP address को भी hide कर देता है। जिससे वह पूरी तरह से गुप्त रहकर काम कर सकता है यानी कि वह किस वेबसाइट पर गया और कब गया और उसने वहां से क्या चीज डाउनलोड की यह किसी को पता नहीं चलता।

2. Security.

इंटरनेट पर आए दिन ना जाने कितने scam, online fraud, hacking और data चोरी जैसे मामले आते रहते हैं इसलिए आपको इन सब से बचने के लिए बीपीएन को इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि यह एक सुरक्षित कनेक्शन प्रोवाइड करता है और आपको पूरी तरह से सिक्योर रखता है इसलिए आपको बीपीएल सुरक्षा के उद्देश्य से जरूर इस्तेमाल करना चाहिए।

3. performance.

आपने कुछ खास वेबसाइट पर slow internet speed अनुभव जरूर किया होगा। असल में इसे data throttling या bandwidth throttling कहा जाता है। यह आपकी internet speed को स्लो कर देता है जिससे performance पर काफी बुरा असर पड़ता है। मगर बीपीएन इस समस्या को दूर कर सकता है। क्योंकि बीपीएन आपके internet traffic को encrypt कर देता है इससे आपको high performance मिलती है।

4. Bypass restriction.

बीपीएन ISP द्वारा लगाए गए restriction को Bypass करके प्रतिबंधित सेवाओं को एक्सेस करने में मदद करता है। यह geographical restrictions को भी Bypass कर देता है। जिससे आप उन website को भी access सकते हैं जो आपके देश में प्रतिबंधित हैं।

5. Freedom of internet.

जो लोग इंटरनेट की आजादी (freedom of internet) में विश्वास रखते हैं।उन लोगों के लिए बीपीएन एक आशीर्वाद से कम नहीं है। क्योंकि बीपीएन की मदद से आप पूरी आजादी से इंटरनेट को यूज कर सकते हैं।

UPI क्या है और इसके फायदे व नुकसान क्या है।

VPN के नुक़सान।

अगर आप अभी तक सोच रहे थे की बीपीएन को यूज करने के सिर्फ फायदे हैं तो मैं आपको बता दूं की इसको इस्तेमाल करने के कुछ नुकसान भी हैं।जो इस प्रकार हैं।

1.  कई लोग मानते हैं कि बीपीएन को इस्तेमाल करने से कोई उन्हें पकड़ नहीं पाएगा मगर यह गलत है क्योंकि आप अपने आप को पूरी तरह से छुपा नहीं पाओगे क्योंकि आपका डाटा वीपीएन सर्वर में मौजूद रहेगा इसलिए इससे कोई गलत काम ना करें।

2. कई सारी फ्री वीपीएन सर्विसेज आपके डाटा का मिस यूज भी कर सकती हैं क्योंकि आपने जो कुछ भी एक्सेस किया है उनके पास उन सभी की जानकारी होती है इसलिए आपको भरोसेमंद फ्री वीपीएन का ही इस्तेमाल करना चाहिए।

3. बीपीएन का सबसे बड़ा नुकसान यह है कि हैकर इससे अपनी पहचान छुपाने में कई हद तक सफल हो जाते हैं क्योंकि इसे अच्छे व बुरे दोनों प्रकार के लोग इस्तेमाल करते हैं।

Google की ऐसी 10 ट्रिक्स क्या आप जानते हैं।

Top 10 VPN in 2021.

Top 10

अब हम जानेंगे टॉप 10 VPN के बारे में जो बहुत अच्छी सर्विस दे रहे हैं।

  1. Express vpn
  2. Nord vpn
  3. Shurfshark
  4. Cybergost
  5. Ipvanish
  6. Proton vpn
  7. Private internet access
  8. Hotspot shield
  9. Private VPN
  10. Vyper vpn

वही एक बार मैं आपको बता दूं कि कभी भी फ्री वीपीएन के चक्कर में ना पड़े क्योंकि यह फ्री वीपीएन आपको बहुत ही महंगा पड़ सकता है। बेहतर यह होगा कि आप हमेशा paid वीपीएन का इस्तेमाल करें क्योंकि फ्री वीपीएन में आपको पूरे फीचर नहीं मिलते और यह ना ही पूरी तरह से सुरक्षित होता है।

आपने क्या सीखा।

मैं आशा करता हूं कि आपको यह जानकारी अच्छी लगी होगी और आपके समझ में आ गया होगा की बीपीएन क्या होता है और इसे कैसे यूज़ किया जाता है और इसके फायदे व नुकसान।अगर आपको यह सब समझ आ गया तो आप इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें धन्यवाद।🙏

This Post Has 3 Comments

  1. Rahul

    Bahut accha

  2. Rajesh

    आपने बहुत अच्छे से समझाया है।

Leave a Reply